What is Ashray Raag आश्रय राग क्या है

Confusion

Often people think that Thaat has been composed first, then Raag has made. The main reason for this is that people thinks Bhoopali Raga has originated from Kalyan Thaat. Actually this thing is very confusing.

Raga ragani has been composed long before Thaat was made. After some time, all the ragas were divided into 10 parts under the Thaat classification after the raga Ragini method was proved unscientific.

Thaat naming

To keep the names of the Thaats separately, our Ustaads thought that the name of the most famous raga originating from each Thaat should be given to its Thaat.

Ashray ragas are those ragas based on which naming of Thaats is made. Thatt is considered 10, so there are also 10 Ashray ragas – Kalyan, Bilawal, Khamaj, Bhairav, Bhairavi, Aasawari, Kafi, Purvi, Marwa and Todi.


भ्रम

अक्सर लोग यह सोचते हैं कि सबसे पहले थाट की रचना हुई है उसके बाद राग की रचना हुई होगी। इसका मुख्य कारण यह है कि वह समझते हैं भूपाली राग कल्याण थाट से उत्पन्न हुआ है। वास्तव में यह बात बहुत भ्रामक है। होना यह चाहिए कि कल्याण थाट से उत्पन्न माना गया है, न कि उत्पन्न हुआ है।

थाट बनने के बहुत पहले से राग रागनी की रचना हो चुके हैं। कुछ समय बाद राग रागिनी पद्धति की अवैज्ञानिकता सिद्ध किए जाने पर थाट वर्गीकरण के अंतर्गत समस्त रागों को 10 भागों में विभाजित कर दिया गया।

थाट नामकरण

थाटों का नाम अलग-अलग रखने के लिए हमारे शास्त्रकारों ने यह सोचा कि प्रत्येक थाट से उत्पन्न माने गए सबसे अधिक प्रसिद्ध राग का नाम उसके थाट को दे दिया जाए।

आश्रय राग वे राग हैं जिनके आधार पर थाटों का नामकरण हुआ है। थाट 10 माने गए हैं, अतः 10 आश्रय राग भी हैं- कल्याण, बिलावल, खमाज, भैरव, भैरवी, आसावरी, काफी, पूर्वी, मरवा और तोड़ी।


error: Content is protected !!