Why are different Singing scale of the girl from the boys लड़का लड़की के स्केल अलग क्यूँ होते हैं

First of all

First of all, you have to understand how to recognize your singing scale. If in any scale you get your voice by the Ma of the Lower Octave to the Ma of Higher Octave, then it is your scale.

Different Voice

God created the voice of the boy and the girl differently. The boy’s voice is thick and the voice of the girl is thin. Therefore, both of the scales are different. C# D D# E etc This is the scale of all boys. Bflat G# A etc is the scale of all the girls. Girls’ scales are higher than the scale of boys.


सबसे पहले

सबसे पहले यह समझना होगा कि अपना सिंगिंग स्केल कैसे पहचानेंगे। अगर किसी भी स्केल में मंद्र सप्तक के मं से लेकर तार सप्तक के मं तक आपकी आवाज जाती है तो वह आपका स्केल होता है। सबसे ऊपर का जो स्वर है वह तार सप्तक का मं होना चाहिए तो वह आपका स्केल होता है।

आवाज अलग अलग

भगवान ने लड़का और लड़की की आवाज अलग अलग बनाई है। लड़के की आवाज मोटी होती है तो लड़की की आवाज़ पतली होती है। इसलिए दोनों का स्केल भी अलग अलग होता है। C# D D# E ये सभी लड़कों का स्केल होता है। Bflat G# यह सभी लड़कियों का स्केल होता है। लड़कियों का सिंग इन ए स्केल लड़कों से ऊंचा होता है।


Watch Video:

✓Why are different Singing scale of the girl from the boys लड़का लड़की के स्केल अलग क्यूँ होते हैं?

#Scale selection in Singing क्या है ??

#Singing Scale, Vocal range How to find गाने का स्केल रेंज कैसे पता करें


Related Posts

1 thought on “Why are different Singing scale of the girl from the boys लड़का लड़की के स्केल अलग क्यूँ होते हैं

Leave a Reply

error: Content is protected !!