What is Taal ताल क्या है

Taal

Music does not work just by Matra, because the Matra only show the speed of time. Taal have been made to measure Matra.

There are two columns of music, Swar and Rhythms(Lay). It is very important to have Swar and Lay in music. The rhythm is composed of quantity and quantity.

We can understand

We can understand that the second of the clock moves forward at a regular speed, which is called Rhythm (Lay). If the rhythm is divided into a regular number then it is called Matra. Now if a certain name is given to this regular quantity then it is called Taal.

There are several types of Taal like TriTaal or Teen Taal, Jhaptal, Ek Taal, allegory, Char Taal, Dadra, Kaharwa etc. The Taal is formed based on the types of songs. like; For Khayal singing TriTaal, Ekatal, JhapTal, Tilwara etc. For Thumri, Dhanchandi and JatTaal, For Dhrupad for Char Taal, Shul Tal, Brahma Tal and Dhamar Taal is for Dhamar(Hori).


ताल

संगीत में सिर्फ मात्रा से काम पूरा नहीं होता है, क्यों की मात्राएं केवल समय की गति बताती हैं। मात्राओं को नापने के लिए ताल बनाए गए हैं।

संगीत के दो स्तंभ हैं, स्वर और लय। संगीत में स्वर और लय का होना बहुत जरूरी है। लय से मात्रा और मात्रा से ताल बने हैं।

हम ऐसे समझ सकते हैं

हम ऐसे समझ सकते हैं की घड़ी का सेकंड एक नियमित गति से आगे बढ़ता है जिसे लय कहते हैं। लय को अगर किसी नियमित संख्या में बांट दिया जाए तो उसे मात्रा कहते हैं। अब इस नियमित मात्रा को अगर कोई नाम दे दिया जाए तो उसे ताल कहते हैं।

ताल कई प्रकार के हैं जैसे त्रिताल या तीन ताल, झपताल, एक ताल, रूपक, चार ताल, दादरा, कहरवा इत्यादि। गीत के प्रकारों के आधार पर ताल की रचना हुई है। जैसे; खयाल के लिए तीन ताल, एकताल, झप ताल, तिलवारा इत्यादि। ठुमरी के लिए दीपचंडी और जतताल, ध्रुपद के लिए चार ताल, शुल ताल, ब्रह्म ताल और धमार (होरी) के लिए धमार ताल बनाया गया है


Related Posts

2 thoughts on “What is Taal ताल क्या है

Leave a Reply

error: Content is protected !!