What is the difference between Bandish and Khayal बंदिश और ख्याल में क्या अंतर है

Difference b/w Khayal and Bandish

There is a difference between Khyal singing and Bandish. Any song bounded in Raag and Taal is called Bandish. There is also Bandish in Khayal singing which is in a slow speed (Bilambit lay). Fast speed (Drut lay) Bandish, Medium speed (Madhya lay) Bandish.

Difference in Speed

There is a difference in the speed of the rhythm in Bilambit Khayal and Drut Bandish. The Khayal singing is sung in very slow motion whereas the speed of the Drut Bandish is faster. We can understand such a thing that if the Drut Bandish is in 12 Matra, then the Bilambit Khayal takes 4 times more than that.


खयाल और बंदिश में अंतर

खयाल गायकी और बंदिश दोनों में बहुत अंतर है। कोई भी गीत राग और ताल में बांधकर लिखा गया हो उसे बंदिश कहते हैं। खयाल गायकी में भी बंदिश होती है जो बिलंबित गति में होती है। द्रुतगति की बंदिश होती है, मध्य लय की बंदिश होती है।

गति का अंतर

विलंबित खयाल और द्रुत बंदिश में ताल की गति का अंतर होता है। खयाल गायकी बहुत धीमी गति में गाया जाता है जबकि द्रुत बंदिश की ताल की गति तेज होती है। हम लोग ऐसे समझ सकते हैं कि अगर द्रुत बंदिश 12 मात्रा में हो तो ख्याल गायकी इसकी अपेक्षा 4 गुना ज्यादा समय लेता है।


Song and Bandish difference गीत और बंदिश मे अंतर

Thumri, Ghazal, Khayal bandish difference with Lay Taal intro


Related Posts

1 thought on “What is the difference between Bandish and Khayal बंदिश और ख्याल में क्या अंतर है

Comments are closed.

error: Content is protected !!