Music does not come from learning, it is from God. Is it right संगीत सीखने से नहीं आता, यह भगवान की देन है। क्या ये सही बात है

Music does not come from learning, it is from God. To be honest, it feels very right to hear such things. But let’s understand this deeply.

Those who believe that music is possible only with the blessings of God, then they will also have to believe that education is also given by their blessings.

Now understand the truth

Now understand the truth. We all know that not every student is the same. When someone’s mind is sharp, someone’s mind is normal. Some’s math is good and some’s history. If someone believes in stories, then someone studies science. Not all students are the same. In the same way in the music world, not all are the same. Some are the best in classical music and some are in bhajan songs. According to his understanding, he understands the depths of music.

Music

The one who works hard according to his understanding is equally good. I am not talking about being famous here, I am trying to understand the level of singing. For example, in the field of studies, if someone is determined to study wholeheartedly, then he definitely studies something. In the same way in music, if someone wants to learn from the heart that they will have to learn, they will definitely be able to learn. Here one thing has to be kept in mind that do not compare with others. Because others may be coming quickly and you are taking time to move forward. But it is true that if you want to learn and understand from the heart, then you can definitely learn music. It is important that music should have the blessing of God. But it is also true that whoever works hard will not go in vain. Just learn from the right guru.


संगीत सीखने से नहीं आता, यह भगवान की देन है। सच कहूं तो इस तरह की बातें सुनने में बहुत सही लगता है। लेकिन इस बात को गहराई से समझते हैं।

जो लोग ये मानते हैं कि संगीत सिर्फ भगवान के आशीर्वाद से ही संभव है तो उन्हें ये भी मानना होगा कि शिक्षा भी उनके आशीर्वाद से ही मिलती है।

अब सच्चाई को समझते हैं

अब सच्चाई को समझते हैं। हम सभी जानते है कि हर विद्यार्थी समान नहीं होता है। किसी का दिमाग तेज होता है तो किसी का साधारण होता है। किसी का गणित अच्छा होता है तो किसी का इतिहास। किसी को कहानियों मे मान लगता है तो किसी को विज्ञान पढ़ने मे। सभी विद्यार्थी एक जैसे नही होते हैं। ठीक इसी प्रकार संगीत की दुनिया मे भी सभी एक जैसे नही होते हैं। कोई शास्त्रीय संगीत मे सबसे अच्छा है तो कोई भजन गीत में। जिसकी जितनी समझ होती है उसके अनुसार वो संगीत की गहराइयों को समझता है।

संगीत

अपनी समझ के अनुसार जो जितनी मेहनत करता है उसकी गायकी उतनी ही अच्छी होती है। मैं यहा फेमस होने की बात नही कर रहा हूँ, मैं गायकी का लेवेल समझने की कोसिस कर रहा हूँ। जैसे पढ़ाई के क्षेत्र में अगर कोई दिल से ठान ले की उसे पढ़ाई करनी ही है तो वो ज़रूर कुछ ना कुछ पढ़ाई कर लेता है। ठीक उसी तरह संगीत मे भी अगर कोई दिल से चाह ले की सीखना ही है तो ज़रूर सिख पाएगा। यहा पे एक बात मे ध्यान रखनी होगी की दूसरों से तुलना नही करना है। क्यूंकी हो सकता है की दूसरे जल्दी से आयेज बढ़ रहे हों और आपको आगे बढ़ने मे समय लग रहा हो। पर ये बात सही है की अगर आप दिल से चाहे की सीखना और समझना है संगीत को तो आप ज़रूर सिख सकते हैं। संगीत में भगवान का आशिरबाद होना ज़रूरी है ये बात सही है। पर ये बात भी सही है की जो मेहनत करेगा उसका मेहनत बेकार नही जाएगा। बस सही गुरु से सीखना है।


#Is a God gifted voice necessary to learn music 🤔 क्या संगीत सीखने के लिए अच्छी आवाज जरूरी है ??

#Singing Tips क्या Bollywood singer बनने के लिए God Gifted Voice होना ज़रूरी है ?

#Voice quality to Learn Singing गाना सीखने के लिए कैसी आवाज़ चाहिए ?


error: Content is protected !!