What is Viwadi and Warjya swar वर्ज्य और विवादी स्वर क्या है

Warjya swar

The swar which are not used in a raga are called Warjya swar of that raga. Just as Ga swar is not used in Asawari’s raag. Ma and Ni swaras are not used in both the arohan and avarohan of the raga Bhupali. That is why Ma and Ni swaras are Warjya swar in raga bhupali.

Viwadi swar

The difference in this is that the Warjya swar is never used in Raag, but the Viwadi swar is sometimes used to increase the pigmentation of the raga.


वर्ज्य स्वर

जिन स्वरों का प्रयोग किस राग में नहीं होता है वह उस राग के वर्ज्य स्वर कहलाते हैं। जैसे आसावरी के आरोह में ग स्वर वर्ज्य है। म और नि स्वर राग भूपाली के आरोप और अवरोह दोनों में प्रयोग नहीं किए जाते हैं। इसीलिए राग भूपाली में म और नि स्वर वर्ज्य है।

विवादी स्वर

इसमें अंतर यह है कि वर्ज्य स्वर का प्रयोग कभी नहीं होता, किन्तु विवादी स्वर का प्रयोग राग की रंजकता बढ़ाने के लिए कभी कभी कर लिया जाता है।


error: Content is protected !!