Make morning Riyaz, How to make good voice सुबह शाम का रियाज़ कैसे करें, आवाज़ सुरीला कैसे बनाएं

Before understanding what to do in Riyaz(Singing practice) in the morning and evening, before understanding this, let’s understand how to start Riyaz. This thing is very important for all beginner learners.

How to start Riyaz

Whenever you go to Riyaz, you should do the Riyaz of Sa first, then Riyaz of Kharaj, then you should fix the sur by holding notes, then Riyaz of Palta or Alankar should be practiced. Only after doing so, the Raag should be practiced. It should be the rule of everyday.

Some people believe that Kharaj’s Riyaz should be done only in the morning but there is no such thing. Whenever you can practice Kharaj at the beginning of the Riyaz.

What to do in the morning

Now it comes to know what to do in the morning and what to practice in the evening. If I tell the truth, Riyaz is in the morning or evening, the rule is the same. Whenever you sit to sing, Riyaz’s rule is done the way it is, whether it is morning or evening. It does not happen that some Riyaz is only done in the morning and only in the evening, it is not at all.


सुबह और शाम में क्या रियाज़ करें, इस बात समझने के पहले ये समझते हैं कि रियाज़ शुरू कैसे करना है। ये बात सभी शुरुआत के सीखनेवाले लोगों के लिए बहुत जरूरी है।

रियाज़ की शुरुआत

जब भी रियाज़ करने बैठें तो सबसे पहले सा का रियाज़ करना चाहिए, फिर खरज का रियाज़, फिर होल्डिंग नोट्स करके सुर को ठीक करना चाहिए, फिर पल्टा या अलंकार का रियाज़ करना चाहिए। इतना करने के बाद ही राग अभ्यास करना चाहिए। ये रोज का नियम होना चाहिए।

कुछ लोगों का मानना है कि खरज का रियाज़ सिर्फ सुबह में ही करना चाहिए पर ऐसी बात नहीं है। आप जब चाहे अभ्यास के शुरू में खरज का रियाज़ कर सकते हैं।

सुबह मे क्या किया जाए

अब बात आती है कि सुबह में क्या रियाज़ करना चाहिए और शाम में क्या अभ्यास करना चाहिए। मैं अगर सही बताऊं तो रियाज़ सुबह हो या शाम, नियम एक ही है। आप जब भी गायकी करने बैठिए तो रियाज़ का जो नियम है, जो तरीका है वैसे ही किया जाता है, चाहे वो सुबह हो या शाम। ऐसा नहीं होता कि कुछ रियाज़ सिर्फ सुबह में और कुछ सिर्फ शाम में किया जाता है, ऐसा बिल्कुल नहीं है।


Watch Video:

Singing tips सुबह का रियाज़ गला सुरीला बनाए Morning Evening Riyaz Make vocal cord better

सुबह शाम का रियाज़ क्या करें Morning evening riyaz Lower Higher Holding notes singing practice


error: Content is protected !!